RESIST FASCIST TERROR IN WB BY TMC-MAOIST-POLICE-MEDIA NEXUS

(CLICK ON CAPTION/LINK/POSTING BELOW TO ENLARGE & READ)

Monday, June 5, 2017

शिवाजी ने गद्दी संभालने की तैयारी कई महीने पहले 1673 से ही शुरू कर दीं थीं. लेकिन राज्याभिषेक से पूर्व उनके सामने एक बड़ी समस्या खड़ी थी. उस दौर के रूढ़िवादी ब्राह्मण, शिवाजी को राजा मानने के लिए तैयार नहीं थे. उनके मुताबिक क्षत्रिय जाति से ही कोई राजा बन सकता है. भवन सिंह के मुताबिक शिवाजी भोंसले समुदाय से आते थे, जिसे मराठवाड़ा में निचली जाति समझा जाता था. जबकि भोंसले दावा करते हैं कि वो सिसोदिया परिवार के वंशज हैं. इसका हल तलाशने के लिए शिवाजी ने एक दल क्षत्रियों से मिलने और सलाह लेने उदयपुर भेजा. साथ ही काशी के मशहूर भट्ट परिवार से भी वो दल मिला. वहां उनकी मुलाकात उस दौर के विद्वान गागा भट्ट से हुई. उन्होंने चुनौती स्वीकार की और शिवाजी का राज्याभिषेक कराने के लिए हामी भरी.

ब्राह्मण शिवाजी को राजा मानने को ही तैयार नहीं थे, पर एक दिन...– News18 हिंदी



No comments: